Urmul Jyoti Sansthan

...developing rural india - The participatory way

Volunteer/Internship
Donate Us

Eye care Activities

Jyoti Eye Hospital is the Best Eye Hospital working in nokha, bikaner district of rajasthan state and doing maximum no. of surgeries in Bikaner. Urmul Jyoti Sansthan is doing eye care work with the initially support of Govt.of India,Sigth Savers international and local peoples since 1999. Jyoti Eye Hospital is actively working since April 2002. This Hospital is known throughout the western state of Rajasthan and has today earned a name and reputation through its quality treatment. This Hospital is one of the three flagship programs of Urmul Jyoti Sansthan set up its campus at Nokha,Bikaner where Patients are coming from all over the district and its surrounding area. Here OPD is running seven days but surgeries days are every Sunday and Wednesday. Through this hospital we completed more than 50,000 Eye Surgeries successfully up to today.Read More

Adolescent Girls education

Urmul Jyoti Sansthan is also recognizing through its adolescent girls education and their vocational training. We are running Balika Shivirs (Residential Girls` Education/vocational training Camps) at Mukam, Nokha.In this activity enrolled children in the age group 9 to 18 years particularly those from remote areas and with no schools nearby and those belonging to the poor and deprived sections of the society. Most of these girls have never been to a school-now too old for admission in a government school and some are dropouts. In a short span of 7 months they are readied or coaching add so that they pass out 5th, 8th, 10th and 12th exam. After this education we also run vocational training for those girls who cannot continue their education. Through this activity more than 15000 adolescent girls directly benefited and strong build a environment in favour of female literacy.Read More

Good governance

With a belief that injustice is not inevitable and can be done away with collectively, we responded with the formation of a platform aware peoples groups called (Jagruk Nagrik Manch), yet another major flagship program of Urmul Jyoti Sansthan. Started in 1999 at Nokha, Bikaner, with a handful of members JNM today has about 700 members and 30% of them being women-in as many as from 100 villages. Membership is open to all adults cutting across the barriers of caste, class, religion and gender. JNM works for the promotion of good governance, honesty and transparency in implementation of government schemes keeping a vigilant eye on governmental procedures. It employs various means for demanding state accountability which can vary from using the Right to Information Act, to using the media and to organizing the masses for a collective demonstration ..Read More

Other Activities

We are also doing some other activities like innovation and promotion in rural area development like tree plantation, solar energy, improved agriculture, work for child rights, child malnutrition, right based approach for developments, and work for proper implementation of RTI,RTF,RTE,MNREGA and other this type acts..Read More


Recent Activities and News

सूचना के अधिकार कानून पर 5 वंा राष्ट्रीय सम्मेलन 14 से 16 अक्टुबर 2017 को उत्तकल मंडप, सचिवालय रोड़, भुवनेश्वर, उड़ीसा में आयोजित हुआ।

आमजन व जनआंदोलनों के लम्बे संघर्ष के बाद 12 अक्टुबर 2005 को हमारे देश में अगं्रेजों के समय से चला आ रहा सरकारी कार्यालयों, फाइलों, दस्तावेजों को लेकर गोपनीयता का कानून समाप्त कर, सूचना का अधिकार कानून लागू हुआ। यह जनआंदोलनों के साझे प्रयास की पहली और बड़ी कानूनी जीत थी। तब से इस संघर्ष में शामिल भ्रष्टाचार के खिलाफ, पारदर्शिता की लड़ाई लड़ने वाले सभी जनसंगठन, एक्टिविस्ट हर दूसरे साल इस कानून को अनुभवों को लेकर राष्ट्रीय समम्ेलन करते आये है। इस बार यह सम्मेलन उत्तकल मंडल भुवनेश्वर में आयोजित हुआ जिसमें 23 राज्यों के 100 से ज्यादा जनसंगठनों के 500 से ज्यादा कार्यकर्ताओं ने भाग लिया।

इस तीन दिवसीय सम्मेलन में बीकानेर से उरमूल ज्योति संस्थान के आर.टी.आई एक्टिविस्ट व वरिष्ठ साथी रावतराम व हेमाराम ने भाग लिया और अपने अनुभव देश के विभिन्न भागों से आये साथियों के साथ बांटे।



आंख जांच शिविर में आमंत्रण खींवसर 28 अक्टुबर 2017

सुथार चेरीटेबल ट्रस्ट, सूरत के सहयोग से उरमूल ज्योति संस्थान की टीम द्वारा 14वें आंख जांच एवं उपचार शिविर का आयोजन इस बार 28 अक्टुबर शनिवार को नागौर जिले के खींवसर गांव में आयोजित किया जा रहा है।

आंख, दांत जांच एवं उपचार के साथ रक्तदान भी होगा।

उरमूल ज्योति संस्थान नोखा द्वारा संचालित ज्योति नेत्र चिकत्सालय की टीम द्वारा यह यात्रा सुथारों की ढाणी अलाय से शुरू होकर पिछले साल सुवाप जोधपुर होते हुए अब तक 6000 से ज्यादा लोगों की आंखे जांच कर 500 लोगों की नेत्र सर्जरी करवाकर लोगो को दुबारा दुनिया दिखाने का कार्य किया जा चुका है। हर केम्प में औसत 200 लोगों को चश्मा उपलब्ध करवाई जाती है और जरूरतमंद लोगो को ज्योति नेत्र चिकित्सालय ले जाकर लैंस प्रत्यारोपण कर सर्जरी करते है जिसमे अब तक 100 प्रतिशत सफल रिजल्ट रहे है। इस ट्रस्ट द्वारा हर वर्ष एक षिविर अलाय में रातड़ी फांटे पर स्थाई रूप से माह जनवरी में लगाया जाता रहा है।

सुथार युवाओं की इस टीम में काम करने का जब्बा देखते ही बनता है। इस ट्रस्ट ने नागौर व बीकानेर ग्रामीण क्षेत्र में पीपल लगाने का अभियान चलाया है जिसमें अब तक 2500 से ज्यादा पीपल के पेड़ लगाये जा चुके है। ये युवा इन सारे कार्यो का खर्च स्वयं आपसी सहयोग से उठाते है। 

इस बार दीपावली के बाद 28 अक्टुबर को खींवसर गांव में विशाल आंख जांच एवं उपचार शिविर आयोजित हो रहा है जिसमें पूरे क्षेत्र के आंखो की बिमारी से पीड़ित लोग लाभ उठायेगें और मौके पर चश्मा के नम्बर जांच कर निशुल्क चश्मे दिये जायेगें एवं जिन लोगों के आंखों में ओपरेसन की जरूरत होगी उनको खीवंसर से नोखा ज्योति नेत्र चिकत्सालय ले जाकर लेंस प्रत्यारोपण कर सर्जरी की जायेगी। इस शिविर में डाण् पीण्आरण् सुथार द्वारा दांतों के बिमारो का उपचार किया जायेगा एवं हर बार की तरह रक्तदान भी किया जायेगा।

मै मोहनजी की टीम के सभी सुथार चेरिटेबल ट्रस्ट के युवाओं को सलाम करता हंू और खींवसर के आस.पास के आंखों एवं दांत की बिमारी से पीड़ित लोगों को इस शिविर में आमंत्रित करता हंूूं ।

चेतनराम गोदारा

उरमूल ज्योति संस्थानए नोखाए बीकानेर

9414147095, 9587616360


आज उरमूल ज्योति संस्थान द्वारा संचालित ज्योति नेत्र चिकत्सालय की फिल्ट यूनिट द्वारा नोखा तहसील के थावरिया एवं मेनसर गांवों में आंख जांच, उपचार एवं परामर्श शिविर आयोजित किये जा रहे है। यह अच्छा मौका है जिनको कम या बिल्कुल दिखाई नहीं देता वो केम्प में आकर अपनी आंखे जांच करवाये। 

दुबारा दिखाने के प्रयास में चष्मा पहनने या फिर लेंस प्रत्यारोपण कर ओपरेसन करने की सलाह दी जायेगी। चष्मा तो मोैके पर ही मिल जायेगी परन्तु ओपरेसन के लिए बुधवार या रविवार को सुविधानुसार नोखा ज्योति नेत्र चिकित्सालय आना पड़ेगा।

आज दूसरी अच्छी एवं प्रभावी गतिविधि उरमूल सेतू संस्थान द्वारा लूणकरनसर ब्लोक में की जा रही है जंहा दो ग्राम पंचायतों में अन्राष्ट्रीय बालिका दिवस के अवसर पर वर्तमान सरपंच  दो बालिकाओं को पंचायत में सरपंच पद का एक दिन का जिम्मा देगें और ये बालिकाएं एक दिन पंचायत सरपंच रहकर गांव विकास में अपनी भागीदरी निभायेगी।गांव की समस्याएं सुनेगी एवं समाधान करने का प्रयास करेगी। बालिकाओं के लिए यह सुःखद एवं यादगार अवसर होगा।


अच्छा  अनुभव
मुझे उरमूल सेतू संस्थान लूणकरनसर द्वारा आयोजित दो दिवसीय अन्राष्ट्रीय बालिका दिवस कार्यक्रम में भाग लेने का मौका मिला। यह कार्यक्रम सागर होटल बीकानेर में 10 और 11 अक्टुबर 2017 को आयोजित किया गया जिसमें पूरे जिसे की 170 से ज्यादा बालिकाओं ने भाग लिया। इस कार्यक्रम में बालिकाओं ने खेलए नाटकए भाषण प्रस्तूतीकरणए आपसी मिलनए आदि कई गतिविधियों में भाग लिया। बालिकओं ने अपने अनुभव सबके साथ बांटे। हमारी भाषा में सफलता की कहानियां सुनाई।
सबसे प्रभावी गतिविधि टेकओवर कार्यक्रम रहा जिसमें दो बालिकाओं ने एक दिन के लिए मुख्य चिकित्सा एंव स्वास्थ्य अधिकारी एवं जिला षिक्षा अधिकारी प्राण्षिण् बीकानेर का कार्य ग्रहण कर जनसुनवाई की और स्पष्ट आदेष व निर्देषा दिये। ऐसा लग रहा था कि ये बालिकाएं इन पदों पर लम्बे समय से काम कर रही है। इन बालिकाओं द्वारा जनसुनवाई का अन्दाज बहुत ही प्रभावित करने वाला था।
ये दो दिन बालिकाओं के साथ. साथ कार्यकर्ताओं के लिए भी काफी सीखने वाले थे। इस पूरे कार्यक्रम में उरमूल सेतू संस्थान के साथ प्लान इंडिया का सहयोग रहा और बीकानेर के कई विभागों से अधिकारियों ने यहां आकर बालिकाओं को जानकारी दी।
संस्था कार्मिको ने रात.दिन लगकर बहुत मेहनत की और इन बालिकाओं को यहां तक सुरक्षित लानेए ले जाने एवं सीखने सीखानेए खाने व आवास की अच्छी व्यवस्था की। मैं सभी संस्थान कार्मिको को एवं सहयोगियों को संस्थान की प्रबन्धन कमेठी की तरफ से धन्यवाद एवं शुभकामनाएं देता हूं।

चेतनराम गोदारा
सदस्य प्रबन्धन कमेठी
उरमूल सेतू संस्थानए लूणकरनसर


 

National level RTI Munch meeting will be held in Bhuvnesavar Udisa on 14 Oct. to 16 Oct. 2017, Rawatram or Hemaram join meeting from Urmul Jyoti Sansthan. 


Stories and Top Blog

किसानो का सांकेतिक धरना

नोखा में समर्थन मूल्य पर मूंगफली व मंूग खरीद प्रकिया में सुधार करवाने बाबत क...

सूचना का अधिकार कानून पर 5 वां र...

सूचना के अधिकार कानून पर 5 वंा राष्ट्रीय सम्मेलन 14 से 16 अक्टुबर 2017 को उत्तकल मं...

आंखे जांच करवाने का अच्छा मौका

आंख जांच शिविर में आमंत्रण- खींवसर, 28 अक्टुबर 2017

From The Desk

Urmul Jyoti Sansthan is recognized through Eye Hospital Activities(quality eye surgeries), Adolescent Girls Education, Good governance work and fighting for making system accountable in favor of general public with participatory approach. It has been working in nokha block of bikaner district since 1996 and making efforts for social reforms and upheaval of marginalized class in rural area.